मोक्ष

मोक्ष जीवन मरण के चक्र से मुप्ति का नाम है।क्या आप जानते है कि मोक्ष कैसे प्राप्त किया जाता है।मोक्ष प्राप्त करने के लिये भगवत गीता में तीन उपाय बताए गये है।
१-ज्ञान मार्ग
२-भक्ति मार्ग
३-कर्म मार्ग
१-ज्ञान मार्ग-समस्त चराचर सृस्टि में एक ही इन्द्रियों मन बुद्धि से परे ब्रह्म का वास है का ज्ञान मानव को मोक्ष दिलाता है परम शांति दिलाता है।जब मानव सर्वत्र एकसा भाव मे स्थित ब्रह्म देखता है तो सब भेद नष्ट हो जाते है।तभी मानव जन्म मरण के चक्र से मुप्त हो जाता है।
२-भक्ति मार्ग-अपनी समस्त कामनाओ पर को नष्ट कर केवल भगवत प्राप्ति की इक्षा करने वाला भी मोक्ष प्राप्त कर सकता है।जिस प्रकार चीनी को पानी मे घोलने पर चीनी का अस्तित्व समाप्त हो जाता है व केवल पानी बचता है।उसी प्रकार नर व नारायण के मिलन से नर का अस्तित्व समाप्त हो जाता है।
३कर्म मार्ग-फल की चिंता किये बिना कर्म करने से अर्थात निष्काम कर्म करने से भी मोक्ष प्राप्त हो जाता है।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भारतीय दर्शन

कृत्रिम बुध्दिमता

जीनियस के लक्षण