गहरे मनोवैज्ञानिक तथ्य

 जब कोई दूसरा आपको गुदगुदाएगा तो गुदगुदी होगी पर अपने हाथ से गुदगुदाने पर नही होगी क्योंकि आपके मस्तिष्क को पहले से पता है कि आप गुदगुदाने वाले हो इसलिये वह गुदगुदी सहने के लिए पहले ही तैयार रहता है।

मनोवैज्ञान यह बताता है कि अधिकांश स्मार्ट लड़के सिंगल है या लव फेलियर है।

किसी को ऐसे बिना नाम लिए पुकारने से अच्छा है कि उसे नाम लेकर बुलाये उसे अच्छा लगेगा।

जो ब्यक्ति कम बोलता व तेज बोलता है मतलब उसका मस्तिष्क तेज है।

किसी के न बुलाने पर भी अपना नाम सुनाई देना स्वस्थ मस्तिष्क की निशानी है।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

कृत्रिम बुध्दिमता

भारतीय दर्शन

क्या भारतीय लोग प्यूरिटी से ज्यादा थ्यूरिटी के प्रति आकर्षित होते हैं।